मुखपृष्ठ

पुरालेख-तिथि-अनुसार -पुरालेख-विषयानुसार -हिंदी-लिंक -हमारे-लेखक -लेखकों से


घर-परिवार बागबानी


ज्योतिष से वृक्ष और पौधों
का संबन्ध
(संकलित)


- मंगल के लिये खैर और अनंत मूल
मंगल ग्रह का संम्बन्ध खैर जिससे पान में प्रयोग करने वाला कत्था बनता है (अंग्रेजी नाम मार्शमैलो) तथा अनंतमूल (अंग्रेजी नाम इंडियन सरसापैरिला) से माना गया है।

मंगल ग्रह के बुरे प्रभाव को दूर करने के लिये लाल रंग के रत्न वस्तुएँ आदि प्रयोग में लाई जाती हैं। खैर की लकड़ी का रंग लाल होता है और मंगल का रंग भी लाल है। मंगल की शांति के लिये किये जाने वाले हवन के लिये खैर की लकड़ी को सर्वोत्तम माना गया है। अनंतमूल एक बेल है जो लगभग सारे भारतवर्ष में पाई जाती है। इसकी जड़ गहरी लाल तथा सुगंधवाली होती है। इससे बहुत सी दवाएं बनती हैं। विशेष रूप से रक्त और त्वचा दोष के लिये इसे उपयुक्त माना गया है।

१ मार्च २०१७

पृष्ठ- . . . ४. ५. ६. ७. . . १०. ११. १२.

1

1
मुखपृष्ठ पुरालेख तिथि अनुसार । पुरालेख विषयानुसार । अपनी प्रतिक्रिया  लिखें / पढ़े
1
1

© सर्वाधिका सुरक्षित
"अभिव्यक्ति" व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक
सोमवार को परिवर्धित होती है।